बंद कमरे में युवक ने लगाई फांसी, मौत
– देहात कोतवाली क्षेत्र के करबई गांव में हुई घटना
– मोबाइल पर बात नहीं करने देते थे मायके पक्ष
बांदा। देहात कोतवाली क्षेत्र के करबई गांव में विवाहिता ने घर के अंदर कमरे में रस्सी से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सुबह होने पर परिजनों ने दरवाजा खटखटाया, लेकिन कोई हरकत नहीं हुई। बाद में किसी तरह से दरवाजा खोलकर परिजन कमरे के अंदर पहुंचे तो अवाक रह गए। युवती का शव फंदे पर लटक रहा था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम कराया है। मायके पक्ष के लोगों ने ससुरालीजनों पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है।
करबई गांव निवासी गुड्डन देवी (22) पत्नी ओमप्रकाश ने शनिवार की सुबह कमरे के अंदर रस्सी से फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। नित्य क्रिया से निवृत्त होकर घर पहुंचे पति ने देखा तो कमरे का दरवाजा बंद था। कुंडी खटखटाने पर कोई हरकत नहीं हुई। इस पर पति और परिजनों ने किसी तरह से दरवाजा खोला। अंदर जाकर देखा तो गुड्डन का शव फांसी के फंदे पर लटक रहा था। यह देखकर परिजनों में कोहराम मच गया। खबर पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से नीचे उतारकर पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के ससुर राममूरत ने बताया कि वह लोग अपनी कालोनी में सो रहे थे। जबकि गुड्डन और उसका पति ओमप्रकाश रिहायशी मकान में सो रहा था। मोबाइल पर बात करने के लिए गुड्डन पति से मोबाइल मांग रही थी। मोबाइल न देने पर गुड्डन नाराज हो गई और जब शनिवार की सुबह पति ओमप्रकाश नित्यक्रिया के लिए चला गया। इसी दौरान दरवाजा बंद करके गुड्डन ने फांसी लगा ली। वहीं मृतका के पिता रघुनंदन निवासी इटवां सकरौली थाना चित्रकूट ने बताया कि उसने अपनी बेटी गुड्डन की शादी दो वर्ष पहले की थी। ससुरालीजन उसे प्रताड़ित करते थे। मोबाइल पर बात नहीं करने देते थे। इसी से परेशान होकर उसकी बेटी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद वह कार्रवाई करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *