झांसीबुंदेलखंड

झांसी-मोहर्रम पर निकले ताजिये और बुर्राकों का जुलूस, अखाड़ों ने दिखाई कलाबाजी

झांसी-मोहर्रम पर निकले ताजिये और बुर्राकों का जुलूस, अखाड़ों ने दिखाई कलाबाजी

मोहर्रम पर निकले ताजिये और बुर्राकों का जुलूस, अखाड़ों ने दिखाई कलाबाजी
झांसी। इंसानियत और सच्चाई के लिए लड़ते-लड़ते कर्बला के मैदान में हसन और हुसैन शहीद हुए थे। उनकी शहादत में मंगलवार को ताजिये, बुर्राकों और अखाड़ों का जुलूस निकाला गया। मातमी धुनों के साथ निकाले गए ताजियों को लक्ष्मीताल स्थित कर्बला में ठंडा किया गया। जुलूस में शामिल अखाड़ों में युवाओं ने कई स्थानों पर कला का प्रर्दशन किया।
दसवीं मोहर्रम पर शहर भर में ताजियों, बुर्राकों के साथ अखाड़ों का जुलूस निकाला गया। सुबह से ही शहर के गंदीगर के टपरा पर ताजियों, बुर्राकों और अखाड़े जमा होना शुरू हो गए। ताजिया कमेटियों के सदस्यों के द्वारा मिसिलबद्घ हुए, जो जुलूस के रूप में ढोल, और बैंड की मातमी धुन के बीच सर्राफा बाजार, मानिक चैक, सिटी पोस्ट ऑफिस, सिंधी तिराहे होते हुए रानी महल पहुंचे। वही प्रेमनगर व पुलिया नम्बर 9 ताजियों, बुर्राकों के साथ अखाड़ों का जुलूस निकाला गया। इसके बाद सभी ताजिये और बुर्राक वापस अपने-अपने इमामबाड़े पर लौट गए। शाम होते ही सभी ताजिये, बुर्राकें मस्जिद गंदीगर के टपरा पर एकत्रित हुए। जो सर्राफा बाजार, मालिनों के चैराहा होकर बड़ा बाजार पहुंचे। यहां पर बुर्राकें और अखाड़े अपने मुकाबले कर अपने इमामबाड़ों पर लौट गए, वहीं ताजिये ठंडा करने के लिए लक्ष्मीताल स्थित कर्बला के लिए प्रस्थान हुए, जो फातिहा के बाद कर्बला में ठंडे कर दिए गए। सिंधी तिराहे पर कांग्रेसी नेता प्रदीप जैन आदित्य और इम्तियाज हुसैन ने कार्यकर्ताओं के साथ जुलूस का स्वागत करते हुए लंगर का वितरण किया।
बाॅक्स
शियाओं ने मातम कर निकाला जुलूस
कर्बला में शहीद हुए हजरत इमाम हुसैन और उनके साथियों की शहादत की याद में शिया समुदाय के लोगों ने मातमी जुलूस निकाला। मुहर्रम की दस तारीख को सुबह गमगीन माहौल में जुलूस मेवातीपुरा स्थित हुसैनी इमामबाड़े से शुरू किया गया, जो दरीगरान स्थित नूर मंजिल और नरिया बाजार से होता हुआ गंदीगर का टपरा पर पहुंचा। जहां पर मौलानाओं ने तकरीर में बताया कि हजरत इमाम हुसैन इंसानियत की जंग लड़ते हुए मैदान-ए-कर्बला में प्यासे शहीद हुए थे। जुलूस में या हुसैन, शाह हुसैन बादशाह हुसैन की सदाएं गूंज रहीं थी। वहां से मातम करते हुए मातमी जुलूस कर्बला पहुंचा।
बाॅक्स
चाक चैबंद रही सुरक्षा व्यवस्था
मोहर्रम के जुलूस के मद्देनजर सभी थाना क्षेत्रों में पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था चाक चैबंद रही। वही पुलिस टीम जुलूस ताजियों, बुर्राकों और अखाड़ोें के साथ हर व्यक्ति पर नजर रखे हुए रही। इसके साथ ही पुलिस के आला अधिकारी जूलूस में मौजूद रहे। इसके अलावा एलआईयू के लोग भी हर गतिविधि पर नजर रखे हुए थे।

Oops, something went wrong.

Leave a Reply

WP Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
यूपी ताजा न्यूज़