झांसीबुंदेलखंड

झांसी-बैंक शाखायें वसूली में तेजी लाये अन्यथा वेतन रोके जाने की होगी कार्रवाई: अन्द्रा वामसी

झांसी-बैंक शाखायें वसूली में तेजी लाये अन्यथा वेतन रोके जाने की होगी कार्रवाई: अन्द्रा वामसी

बैंक शाखायें वसूली में तेजी लाये अन्यथा वेतन रोके जाने की होगी कार्रवाई: अन्द्रा वामसी
झांसी। बकायादारों से दोस्ती मंजूर नहीं होगी, 10-10 बड़े बकायादारों की सूची बनाकर वसूली में तेजी लाये, यदि वसूली नहीं बढ़ेगी तो वेतन रोके जाने की कार्रवाई की जाएगी। अधिकारी 10-10 गांवों को चिन्हित करते हुए भ्रमण करें व वसूली में तेजी लाये। नॉन परर्फामिंग ऐसेट्स (एनपीए) में मण्डल की स्थिति चिंताजनक है, ऐसी शाखायें जहां स्थिति बेहद नाजुक है, वहां के शाखा प्रबन्धकों का वेतन रोका जाए। इसके साथ ही उन्हें शाखा से हटाये जाने की कार्यवाही की जाए। उक्त निर्देश अपर आयुक्त एवं अपर निदेशक (बैकिंग)/प्रबन्ध निदेशक (उ.प्र. सहकारी ग्राम विकास बैंक लि.) अन्द्रा वामसी ने सोमवार को उ.प्र. ग्राम विकास बैंक लि. मण्डल झांसी एवं जिला सहकारी बैंक लि. जनपद झांसी, जालौन एवं ललितपुर के व्यावसायिक क्रियाकलापों से बैंक की वसूली के सम्बन्ध में गहन व विस्तृत समीक्षा करते हुए विकास भवन में उपस्थित अधिकारियों को दिए।
अपर आयुक्त एवं अपर निदेशक/प्रबन्ध निदेशक अन्द्रा वामसी ने भूमि विकास बैंक की समीक्षा करते हुए कहा कि भूमि बन्धक कर ऋण दिया गया और वसूली नहीं हो रही हैं, तो भूमि को नीलाम कर वसूली बढ़ाये। ए.आर. सही ढंग से अनुरंक्षण का कार्य करें, साथ ही वसूली में पिछड़ी शाखाओं की लगातार समीक्षा करें, ताकि उनमें सुधार आ सके। उन्हांेने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि 90 शाखाओं के समस्त अधिकारियों का वेतन रोका जा चुका है, यदि ऐसी स्थिति रही तो आगे भी वेतन रोका जाएगा। उन्हांेने मण्डल की अनेक तहसीलों में कम वसूली पर सख्त निर्देश देते हुए कहा कि यदि सुधार नहीं होता है तो कार्यवाही तय है।

उन्होंने एनपीए की समीक्षा करते हुए कहा कि ऋण के सापेक्ष वसूली बेहद कम है, जिन्हंे बढ़ाया जाना है। उन्हांेने कहा कि सभी बैंक की गरिमा के अनुरुप कार्य करें, ताकि मण्डल में प्रगति आये। यदि तहसील स्तर से सहयोग प्राप्त नहीं हो रहा है तो जानकारी दें। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि जो ऋण दिया गया उसकी शत-प्रतिशत वसूली की जानी हंै, इसमें कोई भी किसी भी प्रकार का समझौता नहीं होगा। जिला सहकारी बैंक लि. की समीक्षा करते हुए अन्द्रा वामसी ने कहा कि 160 करोड़ के सापेक्ष मात्र 7 करोड़ की वसूली की गयी जो 4.30 प्रतिशत है। शाखाओं द्वारा जो ऋण दिए गये उनकी समीक्षा की जाये, क्योंकि वसूली बढ़ाने के लिए आने वाले 3 माह महत्वपूर्ण है, यदि वसूली में सुधार नहीं होगा तो मण्डल की रेटिंग नीचे आ जाएगी, यदि ऐसा हुआ तो प्रदेश की स्थिति खराब होगी। जनपद ललितपुर में महरौनी व पाली की वसूली 1 प्रतिशत है, यह बेहद खेदजनक स्थिति है। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी निखिल टीकाराम फुंडे, एडीएम नगेन्द्र शर्मा, उपायुक्त व उप निबन्धक उदयभानु सिंह, सहायक आयुक्त व सहायक निबन्धक रमेश कुमार गुप्ता, पीके शुक्ला, प्रेमचन्द्र पटेल, सचिव/मुख्य कार्यपालक अधिकारी एमके सिंह, नन्द किशोर, दिनेश कुमार सहित मण्डल के समस्त विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

WP Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
यूपी ताजा न्यूज़