Categories
उत्तर प्रदेश

राठ में गर्भवती महिला की संदिग्ध परिस्थिति में मौत परिजनों ने ससुराल पक्ष पर लगाया पीट पीटकर हत्या क

राठ में गर्भवती महिला की संदिग्ध परिस्थिति में मौत परिजनों ने ससुराल पक्ष पर लगाया पीट पीटकर हत्या क

Categories
उत्तर प्रदेश

कमासिन-कोरोना काल में झोलाछाप चिकित्सकों की चांदी

कोरोना काल में झोलाछाप चिकित्सकों की चांदी
– बेपरवाह स्वास्थ्य विभाग, नहीं हो रही है कार्रवाई
कमासिन। कोरोना वायरस के समय कस्बा गांवों में अप्रशिक्षित तथा गैर डिग्री धारी झोलाछाप डाक्टरों की भरमार है। झोलाछाप डाक्टर बड़े से बड़े मरीजों का इलाज करने से नहीं चूकते। ऐसे झोलाछाप डाक्टरों का गांवों में साम्राज्यवाद स्थापित है। बेपरवाह स्वास्थ्य विभाग कभी भी इन झोलाछाप डाक्टरों के प्रति कोई कार्यवाही नहीं कर पाया। ऐसे ही नहीं झोलाछाप डाक्टरों ने गांवों से लेकर कस्बों तक बड़े-बड़े अस्पताल, नर्सिंग होम खोलकर मरीजों का इलाज कर रहे हैं।
क्षेत्र पंचायत अंतर्गत 55 ग्राम पंचायतों के तमाम गांव में मेडिकल प्रैक्टिस करने वाले दो से तीन डाक्टर मौजूद है। उनके पास न तो यथोचित डिग्री है और न ही कोई विधिवत प्रशिक्षण हैं। यह जरूरी ज्ञान के बिना ही लोगों की जान से खेल रहे हैं। यही कारण है कि शहरों के बजाय ग्रामीण क्षेत्रों में बीमारी की मृत्यु दर ज्यादा है। सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा के अभाव के कारण ही निजी क्षेत्रों में कथित डाक्टरों का साम्राज्यवाद फैला हुआ है। 55 ग्राम पंचायतों से जुड़े 64 गांवों में  कथित दो या तीन झोलाछाप डाक्टर गांवों में साम्राज्यवाद स्थापित कर बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज करने से नहीं चूकते। कस्बे में पर्याप्त बगैर डिग्रीधारी कथित डाक्टरों ने दूसरों के नाम की डिग्री किराए पर लेकर नर्सिंग होम तक खोले हैं। गंभीर होने पर मरीज को कहीं अन्य जगह भेजने की सलाह तीमारदारों को देकर अपना पीछा छुड़ाते हैं। ऐसे गांवों में प्रैक्टिस कर रहे 75ः से अधिक कथित झोलाछाप निजी डाक्टरों को किसी तरह का औपचारिक प्रशिक्षण भी नहीं मिला। झोलाछाप डाक्टरों की यह तस्वीरें एक ओर इशारा करती हैं कि पेशे से जुड़े डाक्टरों के पास डिग्री, प्रशिक्षण के अलावा कोई खास पढ़ाई का दर्जा भी हासिल नहीं है।
पूर्व प्रधानाध्यापक समाजसेवी बिपिन बिहारी बताते हैं कि गांवों के लोगों के बीच अशिक्षा व गरीबी का आलम ऐसा है कि वह हर इलाज के लिए गांव से बाहर नहीं जा सकते। ऐसे में वह गांव में मौजूद झोलाछाप पर निर्भर होकर खतरा उठाते हैं। थोड़ी बहुत जानकारी होते ही यह डाक्टर मरीजों की सेहत से खिलवाड़ शुरू कर देते हैं। जहां सरकारी डाक्टरों की कमी है वही करोना समय में ग्रामीण इलाकों में परंपरागत डाक्टरों की उपलब्धता बढ़ाने के तमाम उपाय सरकार को करना चाहिए नए डाक्टरों को सर्वप्रथम गांवों की ओर सेवा के लिए सरकार को भेजने पर अमल करना चाहिए। अशिक्षित गरीब जनता को झोलाछाप डाक्टरों के भरोसे नहीं छोड़ना चाहिए। ग्रामीण पृष्ठभूमि से जुड़े डाक्टरों को प्रोत्साहित करना चाहिए। ऐसे प्रावधान करना चाहिए कि वह कहीं और सेवा या नौकरी में रहते हुए भी महीने या साल में कुछ कुछ दिन अपने गांव जाकर सेवा कर सके। गांव के लोग अच्छे डाक्टरों के लिए तरस रहे हैं। उनके इंतजार को जल्द से जल्द खत्म करना सरकार की जिम्मेदारी है। बल्कि चिकित्सा संगठनों, संस्थानों का भी कर्तव्य है कि वह गांवों के लोगों की इलाज के माध्यम से सेवा कर सकें।

राशन की कालाबाजारी कर भरी जा रही हैं जेबें
– गरीबों को राशन उपलब्ध कराने की व्यवस्था में हो रही गड़बड़
कमासिन। कोरोना काल में लाकडाउन को मद्देनजर रखते हुए सरकार ने गरीबों को निशुल्क राशन उपलब्ध कराने की व्यवस्था की है। ठीक इसके विपरीत राशन के नुमाइंदों द्वारा राशन की कालाबाजारी के साथ गरीबों के अधिकारों का शोषण कर है वही खाद्यान्न का पैसा लेकर खाद्यान्न उपलब्ध करा रहे हैं। जिसकी शिकायत गांव वालों ने एस डी एम बबेरू से कर जांच कार्रवाई की मांग की हैं।
मामला क्षेत्र पंचायत के खरौली गांव का है। गांव के ही नरेश चंद्र, विजय करण, राजा तिवारी, चंद्र भवन, उदयवीर, प्रमोद, वरुण, दिनेश चंद्र, रामऔतार सहित एक दर्जन से ज्यादा लोगों ने स्वहस्ताक्षरित शिकायती पत्र एसडीएम को सौंप कर कहा है कि ग्राम खरौली का कोटेदार प्रति व्यक्ति से 1 किलो राशन काटता है तथा गेहूं 5 किलो का मूल्य 12 लेता है। और कुछ लोगों से 15 रूपए यहां तक कि 20 तक खाद्यान्न का पैसा लेता है। किसी जाब कार्ड में यदि 4 लोग हैं तो उनमें एक ही व्यक्ति को निशुल्क राशन देता है। और बाकी तीन व्यक्तियों से पैसा लिया जाता है। शिकायत करने पर कोटेदार सोहनलाल द्वारा धमकी दी जाती है कि जहां शिकायत करना हो कर सकते हैं। आरोप लगाया कि गल्ला वितरण का कार्य मशीन द्वारा नहीं किया जाता है। हमेशा मशीन गड़बड़ी का बहाना कर कोटेदार न तो अंगूठा लगवाता है और न ही हस्ताक्षर करवाता है। कोटेदार की शिकायत सचिव, लेखपाल के अलावा पूर्ति निरीक्षक बबेरू की गई है। कोई कार्यवाही नहीं हुई। इसके पूर्व 9 जून को एसडीएम बबेरू को भी प्रार्थना पत्र देकर शिकायत की गई लेकिन इसमें भी कोई कार्यवाही नहीं हुई। गांव वालों का आरोप है कि कोटेदार के विरूद्ध कानूनी कार्यवाही की जाए तथा जांच के समय गांव वालों को सामूहिक रूप से बुलाया जाए।

नहीं उठाया जा रहा कचरा, बजट का रोना रो रहे जिम्मेदार
– नगर पालिका परिषद की बेपरवाही का नतीजा
– दो दिन में कचरा न उठा तो होगा आंदोलन
अतर्रा। विगत कई दिनों से नगर में जगह-जगह कूड़े के ढेर लगे हुए हैं उनको उठाया नहीं जा रहा। इससे पूरे कस्बे में गंदगी फैली हुई है। इस दिशा पर नगर पालिका को अवगत कराया गया। इसके बावजूद भी कूड़े के ढेर नहीं हटाये जा रहे हैं। नाला-नाली साफ नहीं कराए गए। इससे नगर की गलियों में निकलना दुर्लभ हो जाता है। चारों तरफ पानी ही पानी नजर आता है। जब जिम्मेदार लोगों से बात होती है तो वह बजट की बात कह कर किनारे हो जाते हैं। जबकि कूड़ा उठाना जरूरी सेवाओं में आता है। सभासदों का कहना है सफाई के लिए पूर्व जिलाधिकारी द्वारा अनुमति दी जा चुकी है, जहां तक बजट की बात है तो 2019-20 का भी पास हुआ है और न ही 2020-21 का पास है, तो पुराना पैसा किस बजट के आधार पर खर्च कर दिया गया। बजट तो एक बहाना है। जबकि सभासदों का आरोप है कि नगर में चारों तरफ काम हो रहे हैं, वह किस बजट से कराए जा रहे हैं? आखरिकार सफाई क्यों नहीं की जा रही है। अगर दो दिन के अंदर कूड़ा नगर का नहीं उठा तो सभासद कूड़े को भरकर चेयरमैन व ईओ कार्यालय के सामने डालने को विवश होंगे और आंदोलन भी करेंगे। उधर अधिशासी अधिकारी राम सिंह का कहना हैं कि बजट न होने के कारण कूड़े को उठाने में दिक्कत आ रही है। फिर भी पूरे प्रयास किये जा रहे हैं। इस दौरान भाजपा नगर महामंत्री रमेश शर्मा, सभासद राजेश गुप्ता, दिनेश गुप्ता, चुन्नूराम सैनी, विभा देवी, संजय, विनीता देवी, सुनील खरे, रणवीर सिंह आदि लोग शामिल रहे।

Categories
उत्तर प्रदेश

बांदा-देयकों का भुगतान न होने पर ठेकेदार खफा

देयकों का भुगतान न होने पर ठेकेदार खफा
– पीडब्लूडी ठेकेदारों ने जिलाधिकारी को दिया ज्ञापन
बांदा। पीडब्लूडी ठेकेदारों ने कोषाधिकारी पर देयकों का भुगतान न किए जाने का आरोप लगाते हुए बुधवार को प्रदर्शन किया। इसके बाद जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। ठेकेदारों ने जिला कोषाधिकारी को निर्देशित करते हुए भुगतान करवाए जाने की मांग की है।
पीडब्लूडी ठेकेदारों ने जिलाधिकारी को सौंपे गए ज्ञापन में बताया कि लोक निर्माण विभाग के देयकों का भुगतान ई-पेमेंट सिस्टम के माध्यम से होता है, जिस पर देयक भुगतान के लिए कोषाधिकारी के यहां भेजे जाते हैं। इनको 10 दिन तक कोषाधिकारी कार्यालय में लंबित रखा जाता है। इसके बाद बिना भुगतान किए विभागों में आपत्ति लगाकर वापस कर दिया जाता है। ठेकेदारों का भुगतान न होने के कारण कार्य करने वाले मजदूरों का भुगतान होने के साथ ही सामग्री आपूर्ति करने वालों का भी भुगतान नहीं हो पा रहा है। इससे ठेकेदार मानसिक रूप से तनावग्रस्त हैं और उन्हें आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है। पीडब्लूडी ठेकेदारों ने जिलाधिकारी से मांग की है कि जिला कोषाधिकारी को निर्देशित करते हुए भुगतान कराया जाए। इस मौके पर पीडब्लूडी ठेकेदार एसोसिएशन के पदाधिकारीगण मौजूद रहे।

प्राकृतिक जलकुंड की सुंदरता देखकर डीएम भावविभोर
– बिसाहिल नाले के पास मिले जलकुंड ग्राम पंचायत करा रही सुंदरीकरण
– सुंदरीकरण में प्राकृतिक जलकुंड की सुंदरता को प्रभावित न करने की हिदायत

बांदा। बिसहिल नाला के पास निकले प्राकृतिक जल कुंड का जिलाधिकारी ने निरीक्षण किया। वहां ग्राम पंचायत द्वारा किए जा रहे पुनर्निर्माण कार्य को एक हफ्ते में पूरा करने का निर्देश दिया। डीएम ने जलकुंड में नीचे उतरकर इसकी प्राकृतिक सुंदरता देखी।
विकास खण्ड नरैनी के तुर्रा गांव में बिसाहिल नाला के पास बने प्राकृतिक जलकुंड में ग्राम पंचायत द्वारा सुंदरीकरण का काम किया जा रहा है। यहां शाम लगभग साढ़े चार बजे अचानक पहुंचे जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल ने निरीक्षण किया। खण्ड विकास अधिकारी को यह कार्य एक हफ्ते में पूरा कराने का निर्देश दिया। कहा इसकी प्राकृतिक सुंदरता को बगैर प्रभावित किये कार्य कराएं। यहां ग्राम पंचायत गौमुख सहित टूट चुकी दीवारों का दुरुस्ती करण करवा रहा है। इस मौके पर खण्ड विकास अधिकारी मनोज सिंह, महुआ खण्ड विकास अधिकारी संजीव बघेल, सहायक विकास अधिकारी पंचायत रमेश चंद्र कुशवाहा और ग्राम प्रधान सुनीता सिंह आदि मौजूद रहे।

Categories
उत्तर प्रदेश

बांदा-गरीबों को मास्क और सेनेटाइजर का हुआ वितरण

गरीबों को मास्क और सेनेटाइजर का हुआ वितरण
– महिलाओं को तमाम योजनाओं के बारे में दी जानकारी
बांदा। कोरोना के संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए अब भी लोगों के द्वारा मास्क और सेनेटाइजर आदि का वितरण किया जा रहा है। बुधवार को महिला शक्ति केंद्र की जिला समन्वयक की ओर से जनमानस में मास्क, हैंडवास, सेनेटाइजर आदि का वितरण किया गया। इसके साथ ही तमाम योजनाओं के बारे में भी लोगों को अवगत कराया।
महिला शक्ति केंद्र बांदा से जिला समन्वयक अधिकारी कामिनी सिंह के नेतृत्व में ग्राम विकास अधिकारी नरैनी अरुण कुमार सिंह, अंशु अंसारी, रईस अहमद द्वारा जिले के नरैनी विधानसभा में व्यापारियों, अधिकारियों व सामान्य जनमानस को मास्क हैंड वास स्पीड व सैनिटाइजर का वितरण किया गया। इसक साथ ही कोविड-19 से बचाव के बारे में जागरूक किया गया। साथ ही साथ जिला समन्वय अधिकारी और उनकी टीम के द्वारा महिलाओं को उनके लिए चलाई जा रही योजनाओं के बारे में भी अवगत कराया गया।

अवैध खनन की शिकायत एसडीएम से
बांदा। शासन द्वारा मोरम के खनन का संचालन बंद किये जाने के बाद भी नरैनी क्षेत्र में बालू खनन हो रहा है। बालू खनन, युवा मोर्चा मण्डल अध्यक्ष ने उपजिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर अवैध खनन रुकवाए जाने की मांग की।
भाजपा युवा मोर्चा के मण्डल अध्यक्ष आदित्य चतुर्वेदी निवासी बरसड़ा मानपुर ने उपजिलाधिकारी वंदिता श्रीवास्तव को पत्र लिखकर जानकारी दी है कि शाशन द्वारा 30 जून से बालू खनन का संचालन बन्द होने के बाद भी केन नदी से लहुरेटा, नसेनी, बरकोला, पाड़ादेव, मऊ और मानपुर नदी घाटों से दिन में नदी तथा उसके तटबंध की खुदाई कर दिन में ट्रैक्टरों द्वारा बालू इकट्ठा की जाती है, जिसे रात में जेसीबी मशीनों द्वारा ट्रकों में लोड कर ले जाया जाता है। युवा मोर्चा ने आरोप लगाया कि पुलिस की साठगांठ से अवैध खनन को अंजाम दिया जाता है। पत्र में आवश्यक कार्यवाही न होने पर आन्दोलन की चेतावनी दी गई है। उधर उपजिलाधिकारी ने तत्काल कार्यवाही का आश्वासन दिया है।

सार्वजनिक नाली को प्रधान ने पाट दिया, किसान परेशान
– भारतीय किसान यूनियन ने उप जिलाधिकारी को दिया शिकायती पत्र
नरैनी। ग्राम प्रधान द्वारा खेतों में बनी सार्वजनिक निस्तार की नाली में मिट्टी डलवा देने से किसानों की सिंचाई का कार्य बाधित है। एक दर्जन किसानों ने किसान नेताओं के साथ एसडीएम से मिलकर मामले की शिकायत की है। तहसील क्षेत्र के पल्हरी गांव निवासी किसानों ने उप जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर बताया है कि पचोखर से पल्हरी तक सार्वजनिक निस्तार के लिए चकबंदी के दौरान नाली का क्षेत्र छोड़ा गया था। इससे वर्षों से किसान अपने खेतों की सिंचाई कर रहे थे। लेकिन बीते 3 वर्ष पहले ग्राम प्रधान ने मिटटी डलवा कर इसे पाट दिया, इससे किसानों की फसलों की सिंचाई बाधित है। भारतीय किसान यूनियन (अरा0) के तहसील अध्यक्ष महेश्वरी प्रसाद दीक्षित सहित गांव के किसान जगमोहन, श्रीराम, श्याम सुंदर, भोला यादव, पुरुषोत्तम यादव, राजकिशोर, संतोष आदि शामिल रहे।

लापरवाह सचिव की एसडीएम से शिकायत
नरैनी। ग्राम पंचायत विकास अधिकारी की निष्क्रियता के कारण गांव का विकास बाधित हो रहा है। बगैर बताये सप्लायरों को भुगतान किया जा रहा है। बरुआ कालिंजर गांव की महिला ग्राम प्रधान सियादुलारी राजपूत ने खण्ड विकास अधिकारी को शिकायती पत्र देकर बताया है कि गांव में तैनात सचिव हैंडपम्प की मरम्मत कराने, मिस्त्रियों का भुगतान नहीं कर रहा है। गांव में होने वाले विकास कार्यो का प्राक्कलन तैयार नहीं किए जाते। इसके साथ ही गांव में राशन वितरण में सहयोग नहीं किया जा रहा है। प्रधान ने आरोप लगाया है कि सामग्री सप्लाई करने वाले सप्लायर को बगैर बताये भुगतान तक किया जा रहा है। प्रधान ने कार्रवाई की मांग की है।

प्रशिक्षण के माध्यम से श्रमिकों को समृद्ध बनाने की कोशिष
– प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत हो रहा आयोजन
– श्रमिकों को रोजगार प्रदान करने के लिए प्रशिक्षण दिया जा रहा
बांदा। परदेश से लौटे श्रमिकों को कृषि से संबंधित आय अर्जन के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना के तहत प्रशिक्षण दिया जा रहा है। कृषि विश्वविद्यालय में आयोजित इस प्रशिक्षण में किसानों को प्रशिक्षण के माध्यम से तमाम जानकारियां दी जा रही हैं, इससे वह अच्छी आय प्राप्त कर सकते हैं। यह प्रशिक्षण लगातार 16 सप्ताह तक दिया जाएगा।
बुधवार को प्रशिक्षण में श्रमिकों को फल एवं सब्जियों के प्रसंस्करण द्वारा उद्यमिता विकास विषय पर तीन दिवसीय प्रशिक्षण का शुभारम्भ कृषि विज्ञान केन्द्र में किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ कुलपति डा. यूएस गौतम ने किया। सह निदेशक प्रसार, बीयूएटी, उप कृषि निदेशक, जिला उद्यान अधिकारी, प्रभारी, सब्जी एवं फल परिरक्षण केन्द्र, बाँदा एवं कृषि विज्ञान केन्द्र तथा राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के कर्मचारीगण आदि उपस्थित रहे। इस प्रशिक्षण में 40 महिला प्रशिक्षणार्थियों द्वारा प्रतिभाग किया गया। कृषि विज्ञान केन्द्र के अध्यक्ष डा. श्याम सिंह ने आगामी प्रशिक्षण की रूप रेखा प्रशिक्षणार्थियों को विस्तृत रूप से बतायी। उप कृषि निदेशक एके सिंह ने कृषि विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी दी। इसके पश्चात जिला उद्यान अधिकारी ने भी उद्यान विभाग की योजनाओं के बारे में बताया। डा. नरेन्द्र सिंह ने कहा कि जहां समस्या होती है वहां समाधान भी होता है। यह महामारी अपने साथ कुछ समाधान लेकर भी आयी है। इस तीन दिवसीय रोजगार परक प्रशिक्षण से महिलाएं जरूर लाभान्वित होंगी, जरूरत है तो बस इच्छा शक्ति जगाने की जो हमारे कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक आप में जगायेंगे।
कुलपति श्री गौतम ने कहा कि इस करोना काल में कई श्रमिक बेरोजगार हो गये है और ऐसे प्रवासी श्रमिकों के उत्थान एवं उन्हें ग्राम में ही रोजगार प्रदान करने हेतु भारत सरकार द्वारा चलाया जा रहा है। यह अभियान एक सराहनीय पहल है जिससे प्रवासी श्रमिक जरूर ही लाभान्वित होंगे। उन्होंने कहा कि महिलाओं को स्वावलम्बी बनना होगा और स्वयं सहायता समूह से जुड़कर मशरूम उत्पादन मधुमक्खी पालन, बकरी पालन एवं जैविक खेती जैसे क्षेत्रों में कुछ अलग करके अपनी पहचान बना सकते है। उन्होंने बुन्देलखण्ड के स्वर्णिम इतिहास की भी चर्चा की जब इस क्षेत्र को धान एवं दलहन का कटोरा कहा जाता था और कृषक पलायन नही करते थे, लेकिन आज की तारीख में बुन्देलखण्ड क्षेत्र में कृषकों का पलायन एक विकट समस्या है। अब जब करोना महामारी के कारण सभी अपने-अपने गांव लौट रहे हैं ऐसे समय में कृषि एवं कृषि उद्यमिता ही ऐसा मार्ग है जिससे उन्हें रोजगार प्रदान किया जा सकता है। डा. मानवेन्द्र सिंह ने सभी सम्मानित अथितिगण, प्रशिक्षणार्थियों विभिन्न विभागों से आये हुये अधिकारी एवं कर्मचारी कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन डा0 सुभाष चन्द्र सिंह द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में केन्द्र के वैज्ञानिक डा0 सुभाष चन्द्र सिंह, डा0 प्रज्ञा ओझा, डा0 मंजुल पाण्डे, डा0 मानवेन्द्र सिंह, डा0 दीक्षा पटेल, श्री घनश्याम यादव का विशेष योगदान रहा।

पौधरोपण कर अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दू परिषद ने दिया पर्यावरण संरक्षण का संदेश
बांदा। अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दु परिषद के द्वारा जीआईसी मैदान में बुधवार को वृक्षारोपण किया गया। वृक्षारोपण अभियान का शुभारम्भ प्रान्तीय मंत्री राजेन्द्र कुमार यादव ने किया। उन्होने कार्यकर्ताओं को वृक्षारोपण के महत्व तथा लाभ की जानकारी दी। कहा कि भारत की सभ्यता वनो की गोद में ही विकासमान हुई है।
कार्यक्रम के दौरान उन्होने बताया कि हमारे यहां के ऋषियों ने इन वृक्षों की छांव में बैठकर ही चिंतन मनन के साथ ही ज्ञान के भण्डार को मानव को सौंपा था। हमारे हिन्दू धर्म में वृक्षों को पूजा जाता है तथा ईश्वर का निवास स्थान भी माना जाता है। जिसमें नीम, पीपल, आंवला, बरगद आदि वृक्ष शामिल है। जिला संयोजक हीरालाल ने बताया कि वृक्षों में औषधीय गुणों का भण्डार होता है। जो हमारी सेहत को बरकरार रखने में मददगार सिद्ध होते है और ताजा हवा और खाद्य श्रृंखला में उनकी भूमिका शामिल है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से शिवदास यादव, छविनाथ यादव, श्रीराम पटेल, प्रदीप कुमार, विनोद कुमार, विजयकान्त, सचिन, विजय नामदेव आदि उपस्थित रहे।

प्रधान व सचिव के भ्रष्टाचार की जांच कराने को क्रमिक अनशन जारी
–  1 जुलाई से अशोक लाट में अनशन कर रहे गजनी गांव के ग्रामीण
बांदा। तिन्दवारी ब्लाक के ग्राम गजनी गांव निवासी श्रीराम वर्मा पुत्र शिवभजन ने जिलाधिकारी को पत्र देकर बताया कि गांव में ग्राम प्रधान व सचिव द्वारा विकास कार्यो के नाम पर जमकर भ्रष्टाचार किया गया है। कई बार शिकायती पत्र देने के बाद भी कोई कार्यवाही नही हुई। जिससे शिकायतकर्ता बीते 1 जुलाई से अशोक लाट पर अनशन कर रहा है। जो लगातार बुधवार को भी जारी रहा। अनशन में गजनी गांव के ग्रामीण भी उपस्थित रहे।
अनशनकारी श्रीराम वर्मा ने डीएम को दिये गये पत्र में बताया कि गांव के ग्राम प्रधान व सचिव द्वारा गांव में करवाये गये कार्यो नाली, खडंजा, आरसीसी, मिट्टी कार्य, हैण्डपम्प, दुरूस्ती, रिबोर, मनरेगा कार्य में बहुत भ्रष्टाचार किया गया है। ग्राम प्रधान व लेखपाल द्वारा मोटी रकम लेकर ग्रामसभा की भूमि में अवैध कब्जा करवा दिये गये है। सफाई कर्मचारी द्वारा ग्राम प्रधान को प्रतिमाह पैसे दे दिये जाते है। लेकिन गांव के दलितों की बस्ती में कभी भी सफाई नही की जाती है। जिससे सभी लोग परेशान है। समस्याओं के निदान के लिये पूर्व में भी शिकायते की गई थी लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नही की गई है। जिससे शिकायतकर्ता द्वारा 1 जुलाई से अनशन शुरू कर दिया गया है, जो बुधवार को भी जारी रहा। अनशनकारी ने मांग की है कि ग्राम प्रधान, सचिव व लेखपाल द्वारा किये गये भ्रष्टाचार की जांच कराकर कडी कार्यवाही की जाये। ग्राम प्रधान की आय से अधिक सम्पत्ति की जांच कराई जाये। अनशनकारी ने चेतावनी दी है कि जब तक दोषियों के खिलाफ कार्यवाही नही होती, तब तक अनशन जारी रहेगा।

किशोरी अगवा, पुलिस कार्रवाई सिफर
बांदा। देहात कोतवाली क्षेत्र के करबई गांव की रहने वाली राजरानी पत्नी उमेश वर्मा ने पुलिस अधीक्षक को दिये गये शिकायती पत्र में बताया कि बीते रोज गांव के ही दबंग शौच के लिये घर से गई 15 वर्षीय पुत्री को चार पहिया वाहन में अगवा कर लिया। साथ गई छोटी पुत्री ने विरोध किया तो कार चढ़ाने की धमकी दी गई और तेजी से कार चलाकर भाग गये। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी के भाई को पकड़ लिया और बाद में बिना रिपोर्ट दर्ज किये ही उसे छोड़ दिया। पीड़िता ने पुलिस अधीक्षक से मांग की है कि मामले की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पुत्री को बरामद किया जाये। आशंका जाहिर की है कि आरोपी पुत्री के साथ कोई अपराधिक घटना को अंजाम दे सकते है।

जमीन पर जबरन कब्जा कर रहे दबंग
बांदा। बबेरू कोतवाली क्षेत्र के विभार थोक निवासी राकेश कुमार विश्वकर्मा पुत्र सुशील कुमार विश्वकर्मा ने उच्चाधिकारियों को भेजे गये पत्र में बताया कि कस्बे के ही दबंग लोग उसकी जमीन पर कब्जा कर रहे है। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। लेकिन कार्यवाही नही हुई। जिससे उपजिलाधिकारी न्यायालय में मुकदमा कायम किया गया। लेकिन पुलिस विपक्षीगणों से मिली होने के कारण अभी तक रिपोर्ट नही दे रहे है। साथ ही विपक्षीगणों से मिलकर परिवार के लोगों को झूठे मुकदमें में फंसाने की धमकी दी जा रही है। बीते 5 जून को पुलिस ने पिता को पकड़ ले गई थी। लेकिन पुलिस उन्हे कहा रखें है, इसकी कोई जानकारी नही है। पीड़ित ने उच्चाधिकारियों से मांग की है कि मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की जाये। साथ ही परिवार के सुरक्षा प्रदान की जाये।

परिवार नियोजन पर जोर, गर्भ निरोधक साधन होंगे वितरित
11 को मनाया जाएगा विश्व जनसंख्या दिवस
बांदा। कोरोना संक्रमण के समय में सरकार परिवार नियोजन को लेकर पूरी तरह गंभीर है। परिवार नियोजन कार्यक्रम के तहत जिले में 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस आयोजित होगा। भारत सरकार की ओर से इस बार विश्व जनसंख्या दिवस पखवाड़े का विषय ‘आपदा में भी परिवार नियोजन की तैयारी सक्षम राष्ट्र और परिवार की जिम्मेदारी’ निर्धारित किया गया है। सीएमओ ने मुख्य चिकित्साधीक्षकों समेत सीएचसी और पीएचसी प्रभारियों को पत्र भेजकर दिशा-निर्देश बताए हैं।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.संतोष कुमार द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार कोविड महामारी में भी जनसंख्या स्थिरीकरण के लिए समाज को जागरुक करने के साथ परिवार नियोजन कार्यक्रम को गति प्रदान करना अहम है। इसके लिए विभिन्न स्तरों  पर व्यापक व सघन प्रचार-प्रसार किया जाना है। इसके लिए विश्व जनसंख्या दिवस पखवाड़ा दो चरणों में मनाया जाएगा। पहला चरण 10 जुलाई को खत्म होगा। दूसरा चरण 11  से 31 जुलाई तक ‘सेवा प्रदायगी जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा’  मनाया जायेगा। सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार जिला व ब्लाक स्तर पर संबंधित गतिविधियां आयोजित कराई जाएंगी व उनकी रिपोर्ट जिला कार्यक्रम प्रबंधन इकाई को प्रेषित की जाएगी। जिला कार्यक्रम अधिकारी कुशल यादव ने बताया कि देश के युवा जनसंख्या के महत्वपूर्ण हिस्से का गठन करते हैं। जिला अस्पताल एवं स्वास्थ्य केन्द्रों के माध्यम से आधुनिक गर्भ निरोधक साधन की उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है। कोरोना संक्रमण के दौरान भी सोशल डिस्टेंसिंग मानकों के अनुसार वीएचएनडी के माध्यम से और आशा कार्यकर्ता द्वारा घरों में गर्भनिरोधक साधनों का वितरण किया जा रहा है।

जबरदस्त बिजली कटौती पर कांग्रेस का प्रदर्शन
– बिजली विभाग के अधिकारियों पर लापरवाही का आरोप, जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन
बांदा। बिजली संकट से जूझ रहे शहरी और ग्रामीण उपभोक्ताओं की पैरवी करते हुए महिला कांग्रेस ने बुधवार को प्रदर्शन किया। जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई की मांग की है। कांग्रेसियों ने बिजली अधिकारियों पर लापरवाही किए जाने का आरोप लगाया है। कांग्रेसियों ने जिलाधिकारी से बिजली अधिकारियों को निर्देशित करते हुए अघोषित बिजली कटौती से निजात दिलाए जाने की मांग की है।
बुधवार को महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष सीमा खान की अगुवाई में स्वतंत्रता स्मारक अशोक लाट के नजदीक कांग्रेसी एकत्र हुए। यहां से कांग्रेसियों का जत्था कलक्ट्रेट पहुंचा। महिला कांग्रेसियों ने बिजली विभाग अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। बाद में जिलाधिकारी को संबोधित ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपा। ज्ञापन में कहा है कि पावर कारपोरेश्न अभियंताओं की लापरवाही से शहरी और ग्रामीण क्षेत्र की जनता का दिन का चैन और रातों की नींद हराम हो गई है। एक तरफ प्रदेश सरकार बुंदेलखंड के कटौती मुक्त होने का दावा कर रही है दूसरी ओर अंधाधुंध कटौती हो रही है। फाल्ट के नाम पर घंटों बिजली गुल रहती है। अभियंताओं की गैर जिम्मेदारी के चलते बार-बार फाल्ट होना गंभीर समस्या है। ग्रामीण क्षेत्रों में तो बिजली आपूर्ति के बुरे हाल हैं। यहां बारह घंटे से अधिक समय तक बिजली कटौती की जा रही है। महिला कांग्रेस ने व्यवस्था में सुधार की मांग की। चेतावनी दी कि यदि अब भी अघोषित बिजली कटौती बंद नहीं की जाती तो कांग्रेस पार्टी व्यापक स्तर पर आंदोलन करेगी। ज्ञापन देने वालों में कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजेश दीक्षित, पीसीसी सदस्य मुमताज अली, संतोष कुमार द्विवेदी, गुलफाम, जनक दुलारी, शिवबली सिंह, सुखदेव गांधी, बी लाल, कुलदीप मिश्रा, कुतैबा जमां, मोहम्मद नसीर, अशरफ उल्ला रंपा, सैय्यद अल्मश, महेश निषाद, शहीना बेगम समेत तमाम कांग्रेसी शामिल रहे।
इधर, कानपुर जिले के बिकरु गांव में आठ पुलिस कर्मियों की हत्या पर शहर कांग्रेस कमेटी ने रोष जताते हुए प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था पर गहरी चिंता जताई। कांग्रेस नगर अध्यक्ष पुष्पेंद्र श्रीवास्तव की अगुवाई में कांग्रेसजनों ने कलक्ट्रेट में प्रदर्शन करते हुए राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सौंप कर दहशतगर्द विकास दुबे को संरक्षण देने वाले भाजपा विधायकों से इस्तीफे की मांग की। दोषी विधायकों पर कार्रवाई करते हुए प्रदेश में कानून व्यवस्था सुदृढ़ किए जाने की बात कही। चेतावनी दी कि एक सप्ताह के अंदर हत्यारोपी की गिरफ्तार न हुई तो कांग्रेस सड़कों पर उतर कर जोरदार आंदोलन करेगी। इस मौके पर चंद्रकली, चंद्रकिरन, रामबाई, सुशीला, हरी, केसर, गिरिजा, कलेश्वरी, मुबीना आदि उपस्थित रहे।

Categories
उत्तर प्रदेश

बांदा-चार और कोरोना पाजिटिव मिले, संख्या पहुंची 65

चार और कोरोना पाजिटिव मिले, संख्या पहुंची 65
– मेडिकल कालेज चिकित्सक और उसकी दो बेटियों समेत लोको पायलट पाजिटिव मिला
– अलीगंज इलाके को किया जाएगा सील, मास्क और सेनेटाइजर का इस्तेमाल करने की नसीहत
बांदा। बुधवार को चार और कोरोना पाजिटिव मिले। मेडिकल कालेज के चिकित्सक और उसकी दो बेटियों के अलावा एक लोको पायल पाजिटिव पाया गया है। इस तरह से अब तक पाजिटिव केस मिलने की संख्या 65 पहुंच गई है। जबकि 22 केस एक्टिव बताए जा रहे हैं। कोरोना संक्रमण की साइकिल को तोड़ने के लिए तमाम प्रयास किए गए, लेकिन अब तक नाकामी ही हाथ लगी है। दिन गुजरने के साथ ही कोरोना मरीजों की संख्या लगतार बढ़ती जा रही है। अलीगंज इलाके को हाट स्पाट घोषित करते हुए सील किया जाएगा और सेनेटाइजेशन के साथ ही थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी।
बुधवार को ट्रामा सेंटर में लगी ट्रूनेट मशीन से जांच के दौरान शहर के अलीगंज काली देवी मंदिर के समीप रहने वाले लोको पायलट को कोरोना पाजिटिव पाया गया। इस बात की जानकारी होते ही अलीगंज इलाके में हलचल मच गई। अलीगंज इलाके को सेनेटाइज कराने के साथ ही थर्मल स्क्रीनिंग का सिलसिला शुरू किए जाने के बादर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. संतोष कुमार ने कही है। सीएमओ ने लोको पायलट के पाजिटिव होने की पुष्टि भी की। इसी तरह राजकीय मेडिकल कालेज में धड़ाधड़ कोरोना पाजिटिव मरीज निकल रहे हैं। दुखद बात तो यह है कि चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मचारी ही इस संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। पहले मेडिकल कालेज प्राचार्य, फिर प्रभारी प्राचार्य और स्वास्थ्य कर्मी, उसके बाद जूनियर चिकित्सक पाजिटिव मिले थे। आयुक्त चित्रकूटधाम मंडल गौरव दयाल ने बताया कि बुधवार को आई रिपोर्ट में मेडिकल कालेज कैंपस में ही निवास करने वाले एक चिकित्सक और उनकी 7 वर्षीय और 9 वर्षीय दो बेटियां कोरोना पाजिटिव पाई गई हैं। सभी पाजिटिव मरीजों को आईसुलेट करते हुए उपचार शुरू किया गया है। इसके साथ ही मेडिकल कालेज कैंपस में निवासरत चिकित्सक के इलाके को पूरी तरह से सेनेटाइज कराया जा रहा है। ताकि संक्रमण के सिलसिले को रोका जा सके। राजकीय मेडिकल कालेज के प्रिंसिपल से लेकर स्वास्थ्य कर्मियों और चिकित्सकों के कोरोना की चपेट में आने से लोगों में कोरोना का भय स्पष्ट नजर आ रहा है। लोगों का कहना है कि जब चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मी इस महामारी की चपेट में आ रहे हैं तो आम लोगों का क्या हश्र होगा। हालांकि मुख्य चिकित्साधिकारी डा. संतोष कुमार ने लोगों से अपील की है कि कोरोना संक्रमण को लेकर सावधानी बरतें। घर से बाहर निकलते समय चेहरे पर मास्क होना बहुत ही जरूरी है। इसके साथ ही सेनेटाइजर का इस्तेमाल समय-समय पर करें। खुद की सावधानी से ही महामारी से बचा जा सकता है। गौरतलब हो कि जिले में अब तक 65 कोरोना पाजिटिव केस मिल चुके हैं। वर्तमान समय में 22 केस एक्टिव हैं। अलीगंज इलाके को सील करते हुए सेनेटाइजेशन और थर्मल स्क्रीनिंग का सिलसिला शुरू किया जाएगा। सीएमओ ने यह भी कहा कि संबंधित स्थल को हाट स्पाट करार दिया जाएगा।

Categories
उत्तर प्रदेश

राठ में हुआ लॉक डाउन

राठ नगर में कोरोना के बढ़ते मरीजो को देखते हुए जिलाधिकारी महोदय के निर्देशानुसार दिनांक 9 जुलाई दिन गुरुवार से 11 जुलाई दिन शनिवार तक राठ नगर में पूर्णतयाः लोक डॉउन रहेगा जिसमे नगर के समस्त बाजार पूर्णतयाः बन्द रहेंगे एवं पूरे नगर में नागरिकों का आवागमन पूर्णतयाः बाधित रहेगा।
लोक डॉउन का उल्लंघन करने पर शख्त कार्यवाही की जाएगी

Categories
उत्तर प्रदेश

विकास दुबे के सहयोगी अमर दुबे का हमीरपुर में एनकाउंटर

विकास दुबे के सहयोगी अमर दुबे का हमीरपुर में एनकाउंटर

Categories
उत्तर प्रदेश

हमीरपुर में मुठभेड़ में ढेर हुआ विकास दुबे का साथी,अमर दुबे

जनपद हमीरपुर से इस वक्त की बड़ी खबर

कानपुर में 8 पुलिसकर्मी शहीद होने के बाद पुलिस एक्शन में

जनपद हमीरपुर में पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान विकास दुबे के साथी अमर दुबे को मार गिराया,

सूत्रों के मुताबिक एसटीएफ की टीम ने अमर दुबे के साथ मुठभेड़ में उसको वहीं पर धराशाई कर दिया

जनपद हमीरपुर के मौदहा में हुआ मुठभेड़ के दौरान एनकाउंटर, सुबह लगभग 4:00 बजे हुआ मुठभेड़ के बाद एनकाउंटर

सूत्रों के मुताबिक फरीदाबाद के एक होटल में रुका था विकास दुबे,
छापेमारी के दौरान विकास दुबे के 2 साथी भी फरीदाबाद से गिरफ्तार

पुलिस कई राज्यों में दे रही है दविश

यूपी एसटीएफ और पुलिस को मिली सफलता !

विकास दुबे के साथी अमर दुबे को मुड़भेड़ में किया ढेर !

मौदहा कोतवाली क्षेत्र में मुड़भेड़ दौरान अमर दुबे को लगी गोली !

यूपी छोड़ कर मध्यप्रदेश जाने की फिराक में था गैंगेस्टर अमर दुबे,

मुठभेड़ में इंस्पेक्टर मौदहा मनोज शुक्ला और एक एस टी एफ सिपाही को भी लगी गोली हुए घायल।

ईलाज के लिए भेजा गया हॉस्पिटल।

Categories
उत्तर प्रदेश

बाँदा में नवाब टैंक में युवक की लाश में से इलाके में सनसनी फैल गई

बाँदा में नवाब टैंक में युवक की लाश में से इलाके में सनसनी फैल गई

Categories
उत्तर प्रदेश

बांदा में 1 सैकड़ा से अधिक अधिवक्ताओं ने एसपी ऑफिस पहुंचकर सौंपा ज्ञापन

बांदा में 1 सैकड़ा से अधिक अधिवक्ताओं ने एसपी ऑफिस पहुंचकर सौंपा ज्ञापन