Categories
इलाहाबाद

इविवि छात्रसंघ चुनाव नतीजे के बाद आधी रात बवाल, बमबाजी के बाद हॉलैंड हॉल में आगजनी

वही हुआ, जिसकी आशंका जताई गई थी। पुलिस प्रशासन की तैयारियां धरी रह गईं और चुनाव परिणाम घोषित होते ही इलाहाबाद विश्वविद्यालय व उसके आसपास के क्षेत्र का माहौल बिगड़ गया। यहां ताबड़तोड़ बमबाजी के साथ ही आगजनी की गई। हॉलैंड हॉल हास्टल में नवनिर्वाचित व निवर्तमान अध्यक्ष समेत आठ लोगों के कमरे आग के हवाले कर दिए गए। बमबाजी में दारागंज इंस्पेक्टर जख्मी हो गए, जिन्हें बेली अस्पताल भेजा गया है। देर रात तक एसएसपी खुद मौके पर उग्र छात्रों को शांत कराने में लगे थे।

केपीयूसी हॉस्टल के पास बमबाजी 

इविवि छात्रसंघ चुनाव परिणाम रात एक बजे के करीब घोषित हुए। अध्यक्ष पद पर उदय प्रकाश यादव के निर्वाचन की घोषणा होते ही उनके समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई लेकिन, विपक्षियों के खेमे में मायूसी छा गई। परिणाम की घोषणा के बाद प्रत्याशियों को पुलिस सुरक्षा में उनके घर तक पहुंचाया जाना था। पुलिस इसकी तैयारी में जुटी ही थी कि तभी केपीयूसी हॉस्टल के पास बमबाजी शुरू हो गई। एक के बाद एक ताबड़तोड़ बम फोड़कर वहां दहशत फैला दी गई।

दारागंज इंस्पेक्टर जख्मी 

इसी दौरान पैर में छर्रे लगने से चुनाव ड्यूटी पर तैनात इंस्पेक्टर दारागंज विनीत सिंह घायल हो गए। इंस्पेक्टर के घायल होते ही वहां हड़कंप मच गया। आननफानन में पुलिस उन्हें लेकर अस्पताल भागी। उधर फोर्स अभी केपीयूसी की ओर जाने ही वाली थी कि हॉलैंड हॉल हॉस्टल में उपद्रवी तत्वों ने आगजनी कर दी।

[youtube_channel resource=0 cache=300 random=1 fetch=10 num=1 ratio=3 responsive=1 width=306 display=thumbnail thumb_quality=hqdefault norel=1 nobrand=1 showtitle=none desclen=0 noanno=1 noinfo=1 link_to=none goto_txt=”Visit our YouTube channel”]

Categories
इलाहाबाद

एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या कर दी गई।चार सदस्यों की हत्या से पूरे गांव में हड़कंप मचा हुआ है

*इलाहाबाद सोरांव थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या कर दी गई।चार सदस्यों की हत्या से पूरे गांव में हड़कंप मचा हुआ है*

इलाहाबाद में एक के बाद एक हत्याओं की घटनाएं सामने आ रही हैं। शुक्रवार को थाना सोरांव अंतर्गत हाइवे के पास बिगहिया गांव में शुक्रवार की सुबह सूरज निकलते ही पूरे गांव में हड़कंप मच गया। यहां एक ही परिवार के चार लोगों की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई। चार हत्याओं के बाद पूरे गांव में सनसनी फैल गई।

सूचना मिलते ही सोरांव तथा थरवई थाना की भारी संख्या में पुलिस मौके पर पहुंची और घटना देख, जानकारी पुलिस आलाधिकारियों को दी गई। चार हत्याओं की खबर जब पुलिस महकमा में पहुंची, तो आला अफसर मौके पर पहुंचे। फिलहाल पुलिस हत्याओं के बारे में हर पहलुओं से जांच करने में जुट गई है। शुक्रवार की सुबह घर के अंदर चारों की लाश मिलने से सनसनी फैल गई। कातिलों ने दो माह की बच्ची को बख्श दिया। पड़ोसियों ने सुबह बच्ची के रोने की आवाज सुनी तो शक हुआ। घर पहुंचने पर अंदर खून से सनी लाशें मिलीं। चार हत्याओं की खबर पाकर एडीजी एसएन साबत, आइजी मोहित अग्रवाल, एसएसपी नितिन तिवारी पहुंच गए। घर का सामान बिखरा मिला है। लूट और दुश्मनी के बिंदु पर पुलिस जांच कर रही है।
सोरांव थाना क्षेत्र के बिगहियां गांव निवासी स्व. विमलेश चंद्र पांडेय की पत्‍‌नी कमलेश देवी के साथ इन दिनों उनकी बेटी और दामाद भी रह रहे थे। गुरुवार रात घर में घुसकर बदमाशों ने

कमलेश देवी (52), उसकी बेटी किरण उर्फ ¨रकी (32), दामाद प्रताप नारायण (35) और ¨रकी के बेटे विराट (5) की हत्या कर दी। सिर, चेहरे, गर्दन पर चोट के निशान मिले हैं। सुबह छह बजे दो माह की बच्ची के रोने की आवाज सुन पड़ोस के लोग घर पहुंचे। दरवाजा खुला था, घर के भीतर जगह जगह खून फैला था, लाशों को देख पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना दी। एसएसपी नितिन तिवारी के मुताबिक, सामान बिखरा है, इससे लूट के बिंदु पर जांच भी हो रही है। मामला दुश्मनी का लग रहा है। हत्या में एक से अधिक लोग शामिल थे। रात में सोते हुए मारा गया है। एसएसपी के मुताबिक, क्राइम ब्रांच समेत तीन टीमों को लगाया गया है। पड़ोस के लोगों का बयान दर्ज किया गया है। प्रापर्टी के विवाद को भी चेक किया जा रहा है। परिवार वाले जिसे कहेंगे उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की जाएगी।

Categories
इलाहाबाद

इलाहाबाद थरवई  पड़िला मार्ग पर दंपति हत्याकांड में नया मोड़ ले लिया है दरोगा के बेटे ने कबूला की नीलू को एक SIM और मोबाइल दिया था

इलाहाबाद थरवई  पड़िला मार्ग पर दंपति हत्याकांड में नया मोड़ ले लिया है दरोगा के बेटे ने कबूला की नीलू को एक SIM और मोबाइल दिया था*
थरवई थाना क्षेत्र के पड़िला गांव में हुई विजय बहादुर भारतीय और उनकी पत्‍‌नी ऊषा देवी की नृशंस हत्या के मामले में नया मोड़ आ गया है। हिरासत में लिए पड़ोसी दारोगा के बेटे ने पूछताछ में नीलू का नया मोबाइल नंबर बताया है।
ऐसे में दंपती की हत्या में उनकी ही बेटी की भूमिका संदिग्ध हो गई है। पुलिस अब भूमि विवाद के इतर दूसरे बिंदू पर जांच शुरू कर दी है। हालांकि पर्याप्त साक्ष्य न मिलने से कत्ल की गुत्थी सुलझाने में पुलिस को काफी दिक्कत हो रही है। शुक्रवार को पुलिस ने विजय बहादुर की सबसे बड़ी बेटी सोनू से थाने पर घंटों पूछताछ की। सोनू की शादी हो चुकी है और वह अपने ससुराल में रहती है। पुलिस सूत्रों का दावा है कि हत्याकांड को लेकर जो कहानी सामने आ रही है, उसमें परिवार वालों की भूमिका संदेहास्पद है। फिलहाल एसपी गंगापार सुनील सिंह का कहना है कि हत्याकांड की सच्चाई का पता लगाया जा रहा है। अब तक नामजद आरोपित राकेश और दिनेश से पूछताछ में कुछ खास जानकारी नहीं मिल सकी है। वारदात के दिन भी उनके मोबाइल की लोकेशन अलग-अलग स्थानों पर थी। ऐसे में पुलिस अब विजय बहादुर की बेटी नीलू के दूसरे मोबाइल नंबर की कॉल डिटेल रिपोर्ट निकलवा रही है। पता यह भी चला है कि दारोगा के बेटे ने ही वह मोबाइल नीलू को दिया था और उनके बीच बातचीत होती थी। सोमवार रात पड़िला गांव में मकान के बरामदे में सोते वक्त विजय बहादुर व उनकी पत्‍‌नी की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी। नीलू की तहरीर पर पुलिस ने ममेरे भाईयों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की थी
Categories
इलाहाबाद

इलाहाबाद पहुंचे राष्ट्रपति मेयर ने शहर की चाबी सौंप किया  स्वागत

इलाहाबाद पहुंचे राष्ट्रपति मेयर ने शहर की चाबी सौंप किया  स्वागत*

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद विशेष विमान से पत्नी के साथ बमरौली एयरपोर्ट पहुंचे। वहां राज्य सरकार की ओर से कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने उनका स्वागत किया। मेयर अभिलाषा गुप्ता नंदी ने उन्हें शहर की चाभी सौंपी। वहां से राष्ट्रपति की फ्लीट सर्किट हाउस पहुंची। वह यहां लंच करेंगे। शाम को पांच बजे इलाहाबाद मेडिकल एसोसिएशन (एएमए)के शताब्दी वर्ष समारोह में हिस्सा लेंगे, साथ ही एएमए भवन का लोकार्पण करेंगे। सर्किट हाउस में सुरक्षा को लेकर व्यापक प्रबंध किए गए हैं। वे सर्किट हाउस में कुछ गणमान्य लोगों से मुलाकात भी करेंगे।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के स्वागत के लिए सर्किट हाउस को खास तरीके से तैयार किया गया है। साज-सज्जा से लेकर अन्य विशेष इंतजाम भी किए गए हैं। सर्किट हाउस के शुईट समेत सभी 27 कमरों को खाली करा लिया गया है। राष्ट्रपति शुक्रवार दोपहर लगभग 1:30 बजे सर्किट हाउस पहुंचेंगे। वह यहां लंच करेंगे और फिर कुछ समय आराम करेंगे। इसके बाद वह लोगों से मुलाकात भी करेंगे। सर्किट हाउस के सबसे विशेष सुईट त्रिवेणी में वह रहेंगे। इसके बगल स्थित संगम सुईट भी उनके लिए ही है। दोनों सुईट में खास इंतजाम किए गए हैं।
एसी, पंखों की टेस्टिंग भी की गई है। सुईट के बॉथरूम से लेकर डॉयनिंग हॉल तक को विशेष रूप दे दिया गया है। उनके लंच के लिए मेन्यू भी तैयार कर लिया गया है। शाकाहारी भोजन और नाश्ते की व्यवस्था की गई है। इसके लिए विशेष रसोइये बुलाए गए हैं। नाश्ता और भोजन परोसने के लिए राष्ट्रपति भवन का स्टॉफ ही होगा। खाने और नाश्ते में उनकी पसंद का खास ख्याल रखा गया है।
बुधवार को सर्किट हाउस में दिनभर रंग-रोगन हुआ। दीवारों की पुताई कराई गई। लॉन को भी मेंटेन कर दिया गया है। राजघाट घास को करीने से बराबर करने में माली रामयश दिनभर जुटे रहे। अन्य फूलों के पौधों को संवारने के लिए कैलाशनाथ, प्रेमचंद्र और रामप्रताप लगे थे
Categories
इलाहाबाद उत्तर प्रदेश

इलाहाबाद पीसीएस मेंस परीक्षा बवाल में इविवि छात्रसंघ की पूर्व अध्यक्ष ऋचा सिंह को मिली जमानत

इलाहाबाद पीसीएस मेंस परीक्षा बवाल में इविवि छात्रसंघ की पूर्व अध्यक्ष ऋचा सिंह को मिली जमानत
इलाहाबाद पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष ऋचा सिंह की आज जिला कचहरी से जमानत हो गई। ऋचा सिंह के प्रति पुलिस के भेदभाव रवैये को कोर्ट ने स्वीकार किया। अतः कोर्ट ने उन्हें जमानत दी गई।उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की पीसीएस मेंस-2017 परीक्षा का पेपर रद किए जाने के बाद बवाल में बुधवार शाम छात्रसंघ पूर्व अध्यक्ष ऋचा सिंह को गिरफ्तार कर नैनी सेंट्रल जेल भेजा गया था। हालांकि ऋचा के साथ हिरासत में लीं गईं तीन छात्राओं और चार अभ्यर्थियों को थाने से मुचलके पर छोड़ दिया गया। सुबह सभी की गिरफ्तारी दर्शायी गई। एसएसपी नीतिन तिवारी का कहना है कि ऋचा के खिलाफ जांच अधिकारी के पास साक्ष्य थे इसलिए गिरफ्तारी हुई।
पूरा मामला
मंगलवार को लोकसेवा आयोग चौराहे पर जाम के दौरान पथराव और आगजनी की गई थी। पुलिस ने मौके से ऋचा सिंह समेत सात लोगों को हिरासत में लिया था। ऋचा सिंह और तीन छात्राओं को पहले महिला थाने और फिर आशा ज्योति केंद्र में रखा गया जबकि अन्य अभ्यार्थियों को सिविल लाइंस थाने में। बुधवार सुबह ऋचा व अन्य पर मुकदमा दर्ज होने की खबर पाकर सपा नेता पहुंच गए। सीओ सिविल लाइंस के मुताबिक, चौकी प्रभारी लोकसेवा आयोग सुभाष चौधरी की तहरीर पर केस दर्ज हुआ है। प्रतिमा शुक्ला, दिव्या गुप्ता और प्रतिमा समेत चार अभ्यर्थियों को थाने से जमानत दी गई थी। इन्हें परीक्षा देनी थी। ऋचा सिंह को जेल भेजे जाने से पहले कई सपाइयों ने महिला थाने पहुंचकर हंगामे की कोशिश की। अधिवक्ता ने जमानत अर्जी पेश की लेकिन कोर्ट ने खारिज कर दी थी।
रिचा सिंह ने कहा कि सीएम के विरोध पर जेल
नैनी सेंट्रल जेल भेजे जाने से पहले ऋचा सिंह ने कहा कि जिन धारा में उन्हें जेल भेजा जा रहा है, उसी धाराओं में दूसरे लोगों को जमानत दे दी गई। उन्होंने बतौर छात्रसंघ अध्यक्ष विवि में योगी आदित्यनाथ का विरोध किया था, इसलिए उनके खिलाफ ऐसी कार्रवाई की गई। ऋचा ने जेल से छूटने के बाद आंदोलन का भी एलान किया।
वकीलों का समूह पहुंचा जिरह करने के लिए
अधिवक्ता विनोद चंद्र दुबे पूर्व अध्यक्ष इलाहाबाद विश्वविद्यालय, अधिवक्ता उमाशंकर तिवारी जिला कचहरी अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष, अधिवक्ता कौशलेन्द्र सिंह, अधिवक्ता लोकेश सिंह, अधिवक्ता अरुण उपाध्याय, अधिवक्ता लाल चंद्र मिश्रा ने ऋचा सिंह के लिए जिरह की। कोर्ट के इस फैसले से छात्र समुदाय में हर्ष खुशी है।
[youtube_channel resource=0 cache=300 random=1 fetch=10 num=1 ratio=3 responsive=1 width=306 display=thumbnail thumb_quality=hqdefault norel=1 nobrand=1 showtitle=none desclen=0 noanno=1 noinfo=1 link_to=none goto_txt=”Visit our YouTube channel”]
Categories
इलाहाबाद उत्तर प्रदेश

इलाहाबाद –इलाहाबाद सपा प्रवक्ता एवं पूर्व अध्यक्ष रिचा सिंह को जेल भेजने की तैयारी थाने में सपाइयों की जुटी भीड़

*इलाहाबाद सपा प्रवक्ता एवं पूर्व अध्यक्ष रिचा सिंह को जेल भेजने की तैयारी थाने में सपाइयों की जुटी भीड़*
इलाहाबाद पीसीएस मुख्य परीक्षा का गलत पेपर बंटने की वजह से शुरू बवाल फिलहाल थमा नहीं है। पथराव और बस फूंकने की घटना के बाद पुलिस ने छात्रसंघ की पूर्व अध्यक्ष रिचा सिंह समेत आठ को हिरासत में लिया था। इसमें रिचा समेत तीन छात्रनेताओं को जेल भेजने की तैयारी है। रिचा को महिला थाने तो दूसरे अभ्यर्थियों को सिविल लाइंस थाने में रखा गया है। बुधवार सुबह सपाइयों और छात्रनेताओं ने थाने पहुंच हंगामे की कोशिश की। सपाइयों ने रिचा को जेल भेजने पर आंदोलन की चेतावनी दी। हालांकि पुलिस ने कई ऐसे अभ्यर्थियों को छोड़ भी दिया जिन्हें गुरुवार को परीक्षा देनी है।
पीसीएस मुख्य परीक्षा के दौरान जीआइसी में सुबह की पाली में शाम की परीक्षा का पेपर बंटने के बाद शहर में हंगामा शुरू हो गया था। आक्रोशित अभ्यर्थियों ने कई इलाकों में जाम लगाकर पथराव किया। ऐसे में पुलिस और छात्रों के बीच गुरिल्ला युद्ध सरीखा चला। लोकसेवा आयोग चौराहे पर सुबह से शाम तक हंगामा चलता रहा। बवाल को काबू करने के लिए कई थानों की फोर्स के साथ अफसर जूझते रहे। पुलिस अधिकारियों ने पहले तो छात्रों को समझाया, फिर दौड़ाया, इतने से भी बात नहीं बनी तो लठियाया भी। पहले जीआइसी में अभ्यर्थियों ने खूब हंगामा किया। वहां के बाद टुकड़ों में निकले अभ्यर्थियों ने शहर के अलग अलग हिस्से में सड़क पर पथराव और जाम लगाना शुरू कर दिया। छात्रों का मामला था इसलिए पुलिस अधिकारियों ने शुरू में ढील दी लेकिन छात्रनेताओं ने इसमें राजनीति शुरू कर दी। इसके बाद बवाल बढ़ता गया। रात में लोकसेवा आयोग चौराहे पर मानव श्रृंखला शुरू हुई। पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष रिचा सिंह छात्राओं का नेतृत्व कर रही थीं। इसी बीच उपद्रवी अभ्यर्थियों ने वाहनों पर पथराव शुरू कर दिया। अति व्यस्त चौराहे पर पथराव से अफरातफरी मच गई। चौराहे से प्रतापगढ़ डिपो की अनुबंधित बस गुजरी तो अभ्यर्थियों ने घेर लिया और सवारी उतार बस में आग लगा दी। बस फूंके जाने के बाद तो पुलिस अफसरों का सब्र जवाब दे गया। एसएसपी नितिन तिवारी ने उपद्रवियों को खदेड़ा। सात अभ्यर्थी हिरासत में ले लिए गए। रिचा सिंह आंदोलन आगे बढ़ाते हुए चौराहे पर धरना देने लगीं। महिला पुलिस ने रिचा और अन्य छात्राओं को हिरासत में ले लिया। अब सिविल लाइंस थाने में रिचा समेत अन्य छात्र-छात्राओं के खिलाफ केस दर्ज हुआ है, जिसका विरोध किया जा रहा है।
[youtube_channel resource=0 cache=300 random=1 fetch=10 num=1 ratio=3 responsive=1 width=306 display=thumbnail thumb_quality=hqdefault norel=1 nobrand=1 showtitle=none desclen=0 noanno=1 noinfo=1 link_to=none goto_txt=”Visit our YouTube channel”]
Categories
इलाहाबाद

इलाहाबाद बेखौफ बदमाशों ने ट्रांसपोर्टर पर किया जानलेवा हमला

इलाहाबाद बेखौफ बदमाशों ने ट्रांसपोर्टर पर किया जानलेवा हमला
नवाबगंज थाना क्षेत्र के मुबारकपुर गांव में ट्रांसपोर्टर पर शनिवार की रात में जानलेवा हमला किया गया। उसे हमलावरों ने लाठी-डंडे से मारपीट कर जख्मी कर दिया। उसके चिल्लाने की आवाज पर आसपास के लोगों को आता देख हमलावर फरार हो गए। उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कौड़िहार में इलाज के लिए भर्ती कराया गया। मुबारकपुर गांव निवासी मो. अहमद बम्हरौली में ट्रांसपोर्ट का काम करता है। ईद के अवसर पर वह गांव आया था। शनिवार की रात में करीब पौने दस बजे वह गांव स्थित मस्जिद में नमाज अदा कर बाहर निकला। अभी वह कुछ दूर ही गया होगा कि घात लगाए बैठे दो हमलावरों ने उस पर लाठी-डंडा से पीटकर जख्मी कर दिया
[youtube_channel resource=0 cache=300 random=1 fetch=10 num=1 ratio=3 responsive=1 width=306 display=thumbnail thumb_quality=hqdefault norel=1 nobrand=1 showtitle=none desclen=0 noanno=1 noinfo=1 link_to=none goto_txt=”Visit our YouTube channel”]
Categories
इलाहाबाद

इलाहाबाद लाइनमैन की मौत पर ग्रामीणों का हंगामा

इलाहाबाद लाइनमैन की मौत पर ग्रामीणों का हंगामा
फूलपुर थाना क्षेत्र के गो¨रगो गांव के प्रधानपति का भाई शंकरलाल पटेल 40 पुत्र जंग बहादुर पटेल बरिष्का विद्युत उपकेंद्र पर बतौर निजी लाइनमैन तैनात था। शनिवार की पूर्वाह्न करीब 11 बजे वह शटडाउन लेकर घुड़दौली गांव में 11 हजार लाइन की फाल्ट ठीक करने गया था। अभी वह फाल्ट ठीक कर ही रहा था कि आपूर्ति शुरू हो गई। इससे करंट की जद में वह आकर गंभीर रूप से जख्मी हो गया। उसे एंबुलेंस से तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रतापपुर ले जाया गया। हालत गंभीर देख चिकित्सकों ने उसे स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल के लिए रेफर किया गया। वहां दोपहर बाद उसकी मौत हो गई। अंत्य परीक्षण के बाद शव लेकर परिजन गांव पहुंचे। आक्रोशित परिजनों समेत ग्रामीणों ने प्रतापपुर तिराहे पर रात करीब आठ बजे रास्ताजाम कर दिया। समाचार लिखे जाने तक सिवाय पुलिस के बिजली विभाग का कोई अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा था। इससे कोरांव-हंडिया मार्ग पर वाहनों की दोनों ओर लंबी लाइन लग गई।
उधर पुलिस ने आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया लेकिन नहीं माने
[youtube_channel resource=0 cache=300 random=1 fetch=10 num=1 ratio=3 responsive=1 width=306 display=thumbnail thumb_quality=hqdefault norel=1 nobrand=1 showtitle=none desclen=0 noanno=1 noinfo=1 link_to=none goto_txt=”Visit our YouTube channel”]
Categories
इलाहाबाद

थरवई थाना क्षेत्र के अंतर्गत मोटरसाइकिल सवार बदमाशों ने एक दंपति को कट्टे से घायल कर सोने-चांदी के आभूषण और नगदी लुटे

*थरवई थाना क्षेत्र के अंतर्गत मोटरसाइकिल सवार बदमाशों ने एक दंपति को कट्टे से घायल कर सोने-चांदी के आभूषण और नगदी लुटे*

इलाहाबाद के थरवई क्षेत्र में गुरूवार को मोटरसाइकिल सवार बदमाशों ने एक दंपति को कट्टे से घायल कर उनके पास से सोने-चांदी के आभूषण और नगदी छीन कर भाग गये।
पुलिस सूत्रों ने यहां बताया कि थरवई क्षेत्र के बनार्जी बंगला निवासी शिव कुमार अपनी पत्नी वसुंधरा के साथ मोटरसाइकिल पर फूलपुर जा रहे थे। इसी बीच पीेछे से आ रहे मोटरसाइकिल सावार तीन लोगों ने शिव कुमार की मोटरसाइकिल को रोक कर उनसे लूटपाट करने लगे। विरोध करने पर उन्हें कट्टे के मुठिया से मार कर घायल कर दिया। बदमाशों ने वसुंधरा के गले से सोने की चैन, सोने के कान के,पैर से चांदी की पायल और शिव कुमार से नगदी चार हजार रूपये छीन कर भाग गये।
इस सिलिसले में पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।

Categories
इलाहाबाद

इलाहाबाद धूमनगंज में गैंगवार की आशंका, बढ़ गई है एसएसपी ने भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात किया है

*इलाहाबाद धूमनगंज में गैंगवार की आशंका, बढ़ गई है एसएसपी ने भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात किया है*

इलाहाबाद धूमनगंज के मुंडेरा इलाके में प्रापर्टी डीलर सोनू यादव की सरेआम हत्या करने वाले आरोपितों के यहां ताबड़तोड़ छापामारी कर पुलिस ने कई रिश्तेदारों को उठा लिया है। सोनू यादव की हत्या करने पहुंचे शातिरों ने खुद को एसटीएफ वाला बताया था। सोनू की हत्या से इलाके में गैंगवार की आशंका बढ़ गई है। मामले में दस युवकों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई है। हत्या के बाद से मुंडेरा में तनाव है, ऐसे में वहां भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। एसएसपी ने कातिलों की गिरफ्तारी के लिए तीन टीमें बनाई हैं। पुलिस टीमें धूमनगंज के तमाम इलाकों के साथ ही कौशांबी में भी दबिश दे रही हैं। सोनू यादव की हत्या के बाद से धूमनगंज इलाके में गैंगवार की आशंका बढ़ गई है। 50 हजार का इनामी गदऊ पासी उस इलाके में पहले से आतंक मचाए हुए है। सोनू गदऊ गैंग का करीबी बताया जाता है। ऐसे में अब गदऊ और उसके गुर्गे सोनू के कातिलों पर हमला कर सकते हैं। इसे लेकर पुलिस खासा सतर्क है।