बांदा- जनता कफ्र्यू खत्म: घरों से निकले लोग, जमकर की खरीददारी

जनता कफ्र्यू खत्म: घरों से निकले लोग, जमकर की खरीददारी
– महंगी मिली सब्जी, फिर भी हुई खरीद, किराना की दुकान पर भी हुई खरीददारी
बांदा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवाहन पर रविवार को जनता कफ्र्यू में लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकले। सोमवार को जब बाजार खुले तो सुबह तकरीबन 10 बजे से ही लोगों की भीड़ दुकानों के बाहर जा पहुंची। लोगों ने किराना सामग्री की जमकर खरीददारी करने के साथ ही घरेलू जरूरतों का सामान खरीदा। इसके बाद लोगों ने सब्जी मंडी का रुख किया। सब्जी मंडी के अलावा फुटकर सब्जी विक्रेताओं के यहां से भी सब्जी की खरीददारी की गई। यह बात दीगर रही कि सब्जी का रेट सामान्य दिनों की अपेक्षा महंगा रहा, लेकिन कोरोना को लेकर आगामी दिनों में कफ्र्यू जैसी संभावनाओं को देखते हुए लोगों ने सब्जी खरीदकर अपने घरों में डंप कर ली है।
कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप केा लेकर जिस तरह से सतर्कता बरती जा रही है, उसको लेकर लोग संभावनाओं के आधार पर काम कर रहे हैं। रविवार को प्रधानमंत्री द्वारा घोषित जनता कफ्र्यू में जिस तरह से लोगों ने सहयोग किया और घर से बाहर न निकलते हुए कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए हालात से संघर्ष किया, उसको देखकर लोगों में जागरूकता स्पष्ट नजर आई। हालांकि जनता कफ्र्यू का समय खत्म होने के बाद सोमवार को बाजार खुलने के पहले ही खरीददार दुकानों के बाहर पहुंच गए। सबसे पहले तो लोगों ने सब्जी की जमकर खरीददारी की। सब्जी मंडी, मंडी समिति और फुटकर सब्जी की दुकानों में खरीददारी करने के लिए लोग पहुंचे और महंगे दामों पर बिक रही सब्जी की खरीददारी अधिक मात्रा में की। तमाम लोगों ने तो अपने घरों में सब्जी को डंप कर लिया है ताकि आगामी दिनों में अगर कफ्र्यू जैसे हालात बनें तो लोगों को परेशानियों का सामना न करना पड़े। इसके बाद लोगों ने किराना की सामग्री की जमकर खरीददारी की। इसके साथ घरेलू प्रयोग में आने वाले अन्य सामान की भी जमकर बिक्री हुई। इधर, कोरोना को लेकर लोग सतर्क नजर आ रहे हैं। भीड़ भरे इलाकों में लोग मास्क लगाकर या फिर रुमाल चेहरे पर बांधकर निकल रहे हैं। इसके साथ ही गमछा आदि का भी बेहतर इस्तेमाल किया जा रहा है ताकि कोराना के संक्रमण से बचा जा सके।
इनसेट
बैंकों में सन्नाटा, पहुंचे ग्राहकों को किया गया सेनेटाइज
बांदा। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए हर जगह प्रयास किए जा रहे हैं। सोमवार को बैंक खुले तो काफी हद तक बैंकों में सन्नाटे का आलम रहा। लेकिन जो भी खाताधारक बैंक पहुंचे, उन्हें गेट पर ही एक कर्मचारी के द्वारा सेनेटाइजर की दो बूंद हाथ पर डालकर सेनेटाइज कराया गया, इसके बाद बैंक के अंदर प्रवेश दिया गया। भारतीय स्टेट बैंक की मुख्य शाखा में गेट के पास ही एक महिला कर्मचारी लगाई गई थी जो बैंक आने वाले ग्राहकों को सेनेटाइज की दो बूंद हाथ में डालकर उन्हें सेनेटाइज कराया, इसके बाद बैंक के अंदर प्रवेश दिया। बैंक कर्मचारी भी मास्क आदि लगाकर काम करते नजर आए।
इनसेट
सड़कों पर नजर आए दोपहिया-चैपहिया और बड़े वाहन
बांदा। जनता कफ्र्यू बंद होने के बाद सोमवार को लोग अपने घरों से बाहर निकले। मोटरसाइकिल, साइकिल, और चैपहिया वाहनों का सड़कों पर रेला नजर आया। बड़े वाहन ट्रक आदि भी सड़कों पर फर्राटा भरते नजर आए। सड़कों पर वाहनों की भीड़ होने के कारण लोगों को आवागमन में भी परेशानियों का सामना करना पड़ा। लेकिन जनता कफ्र्यू खत्म होने के बाद लोग अपने घरों से स्वतंत्र रूप से बाहर निकले और कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए भी मास्क आदि लगाए सतर्क नजर आए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *