बांदा- लाकडाउन: पुलिस और शहरवासियों के बीच लुकाछिपी का दौर जारी

लाकडाउन: पुलिस और शहरवासियों के बीच लुकाछिपी का दौर जारी
– बिना वजह घर से बाहर निकल रहे लोगों को टोक और ठोक रही पुलिस
– आवश्यक सामग्री खरीदने के बहाने भी घर से निकल रहे हैं लोग

बांदा। 21 दिवसीय देश व्यापी लाक डाउन के 15वें दिन बुधवार को पुलिस और पब्लिक के बीच में लुका छिपी का दौर चल रहा है। शहर में भ्रमण कर रही पुलिस को अगर कोई सड़क पर नजर आता है तो उसे रोककर पूछतांछ की जाती है। घर से निकलने का कारण स्पष्ट नहीं हुआ तो पुलिस लोगों को ठोक रही है। आवश्यक सामग्री खरीदने के बहाने निकलने वाले लोगों को भी अब पुलिस डंडा दिखा रही है।
बुधवार को लाक डाउन का 15वां दिन था। इस एक पखवारे में पुलिस कभी सख्त तो कभी नरम नजर आ रही है, लेकिन लाक डाउन का सख्ती से पालन नहीं हो पा रहा है। शहर में तो पुलिस भ्रमण कर रही है लेकिन गली-कूचों में लाकडाउन का कोई मायने नहीं है। सुबह 6 बजे से नौ बजे तक लोग आवश्यक सामग्री की खरीददारी करने के लिए अपने घरों से बाहर निकलते हैं। इस दौरान अगर कुछ सामग्री खरीददारी से छूट गई तो दोबारा जाने में उन्हें पुलिस की घुड़की और लाठियों का सामना करना पड़ रहा है। आवश्यक सामग्री घर-घर पहुंचाए जाने के दावे तो जैसे हवाहवाई साबित हो रहे हैं। लाक डाउन के 15वें दिन अब घरों में कैद रहे लोग बाहर की ओर भाग रहे हैं। सड़क पर खड़ी पुलिस डंडा दिखाकर लाक डाउन का पालन करा रही है। शहर के कालूकुआं इलाके में लाक डाउन के दौरान निकले बाइक सवारों और पैदल लोगों को रोककर पुलिस ने पूछतांछ की। कई बाइक सवारों को बैरंग वापस कर दिया। इसके अलावा अन्य लोगों से भी सख्ती के साथ पूछतांछ की जा रही है। लाक डाउन का पालन कराने के लिए पुलिस अपना काम कर रही है लेकिन अब आवश्यक सामान लेने या फिर अन्य गंभीर कारणों के चलते लोगों को मजबूरन अपने घरों से बाहर निकलना पड़ रहा है। इधर, तमाम लोग तो यूं ही घरों से बाहर निकल रहे हैं। पुलिस राह पर मिलती है तो कोई आवश्यक कार्य बताकर निकल जाते हैं। फिर भी पुलिस माजरे को भांपते हुए लोगों को अपने घरों में ही कैद रहने की हिदायत दे रही है।
इनसेट
हेयर सैलून न खोले जाने से परेशानी
बांदा। लाक डाउन का एक पखवारा बीत चुका है और लाक डाउन हेयर सैलून की दुकानें खोले जाने की हिदायत नहीं है। ऐसी हालत में लोग अपनी सेविंग कराने और बाल कटिंग कराने के लिए परेशान नजर आ रहे हैं। सुबह के वक्त चोरी छिपे जो हेयर सैलून दुकानदार अपनी दुकान कुछ घंटे के लिए खोलते हैं, वहां पर जबरदस्त भीड़ लग रही है। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ रही हैं। शहरवासियों ने प्रशासन से अपील की है कि हेयर सैलून खोले जाने की इजाजत दी जाए ताकि लोग अपनी सेविंग करा सकें और बाल कटिंग करा सकें।
इनसेट
पांच दिनों से सील है गूलरनाका, घरों में कैद लोग
बांदा। गूलरनाका मुहल्ला निवासी साजिद अली के कोरोना पाजिटिव पाए जाने के बाद हरकत में आए पुलिस और प्रशासन ने गूलरनाका को न सिर्फ पूरी तरह से सेनेटाइज कराया बल्कि उसे चारो तरफ से ब्लाक कर दिया गया है। पिछले पांच दिनों से गूलरनाका इलाका पूरी तरह से लाक है। लोग घरों में ही कैद हैं। इधर, फिर से कराई गई जांच में साजिद और उसका परिवार कोरोना नेगेटिव निकला है, इससे लोगों ने राहत जरूर महसूस की है, लेकिन मुहल्ले के लोगों में कोरोना को लेकर अभी भी दहशत स्पष्ट नजर आ रही है। गूलरनाका जाने वाले तमाम रास्तों को बैरिकेडिंग लगाकर लाक कर दिया गया है, लोग अपने घरों में कैद हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *